हिंदुत्व जागने वाला है

हमने सबको सम्मान दिया, खामोशी से अपमान पिया।
सब हमे सताते रहते थे, फिर भी उन पर एहसान किया।kashmiri
सबने हमको तोड़ा कुचला, फिर भी सबको हम माफ किये।
ये देश सदा आबाद रहे, ये सोच के दिल को साफ किये। Continue reading

Advertisements