मुलायम सिंह और उनके समाजवाद को आइना दिखाती कविता

जन मानस की ना कोई चिंता, जाम छलकता प्यालो में
देखो कैसे खेल खेलता, सत्ता के गलियारों में

Mulayam singh yadav family

जातिवाद का जहर पिलाकर, महल वहाँ बनवाया था
अपनी सत्ता बनी रहे, इसलिए जाल फैलाया था

Continue reading

Advertisements